डेंगू क्या है ?(Dengue fever) डेंगू के लक्षण

क्या आप जानते है डेंगू है क्या ? हमारे भारतवर्ष में अनेक मौसम होते है जिस  में से  गर्मी के बाद हल्का सा बारिशो का मौसम मतलब,सुहाना मौसम और  जरा सी लापरवाही से  बिमारियों की दस्तक जैसे  गर्मी में use होने वाले कूलर ,store किया हुआ पानी नालो व गड्ढो में जमा हुआ पानी जिसमे बारिशो के मौसम में एक जगह store होने के कारण बैक्टीरिया उत्पन्न लगती है उसी में से डेंगू का जन्म  होता है डेंगू एक प्रकार का मादा एडीज  मच्छर है जो इन्सान को काटने पर डेंगू बुखार का रूप ले लेता है डेंगू बुखार बहुत  खतरनाक  होता हैजब इसकी भली प्रकार से ट्रीटमेंट न हो पाए तो    ये मरीज की जान ले लेता है   डेंगू अक्सर ठंडे मौसम तथा साफ़ पानी  में पनपते है इस समस्या को ख़तम कर पाना मुस्किल सा है आइये जानते है आखिर ये डेंगू किस प्रकार अपने प्रकोप से रोगी को प्रभावित करता है आम बुखार से हट के ये डेंगू बुखार होता है जो  ,कमजोर इन्सान में जल्दी अपना आतंक फैला ता है  ,   यह बच्चो में ज्यादा फैलता है क्यूकि छोटे  बच्चे अक्सर पार्क या  गंदगी में खेलना पसंद करते है यह एक प्रकार की वायरल इन्फेक्शन है

डेंगू के लक्षण :-

  • इसमें मरीज को कम भूख लगती है,जबरजस्ती खाने पे जी मिचलाता है और कभी कभी तो ये उल्टी या दस्त का रूप ले लेता है
  • सर में दर्द ,हाथ पैर में दर्द और फटन सी रहती है हर समय
  • शरीर के चमड़े के नीचे लाल चकते पड़ने लगते है जैसे कोई दवा rxn करती है वैसे हो जाते है
  • डेंगू के होने का पता 3 से 14 दिन के बाद में शरीर में दिक्क़त होने में मालूम पड़ता है और लगातार सर व आँखों में दर्द बना रहता है
  • ज्यादा गंभीर समस्या होने पर आंख ,नाक से ब्लड का स्त्राव होने लगता है और ब्लडप्रेशर की समस्या उत्पन्न होने लगती है ,फेफड़ो में पानी भर जाता और और ये कमजोर आदमी को जल्दी प्रभावित करता है
  • ठण्ड के साथ तेज बुखार का होना ,
  • गले में हल्का हल्का दर्द होते रहना
  • मासपेसियो व हड्डियों के जोड़ो में दर्द का बस जाना
  • ब्लड टेस्ट में प्लेटलेट्स काउंट  की कमी,प्लेटलेटस डेंगू में ही नही बल्कि अन्य बुखार में भी कम हो जाते है तथ कुछ दवा के गलत इफ़ेक्ट से भी कमी प्लेटलेट्स कम होते है
  • चहेरे में लाल ददोरे का होना ,चहेरे ,गर्दन तथा छाती पर दानो का फैलना ,और कुछ समय बाद ये पूरी तरह से स्पष्ट हो

बचाव तथा सावधानियां :-

  1. हल्से से बारिश या सुहावने मौसम में थोडा बचाव ही हमारे सेहत के लिए सुविधा जनक है ऐशे मौसम में हमे फुल कपडे पहनने चहिये जिससे हमारे हाथ पैर फुल ढके हो ,क्यों की ये मच्छर दिन के समय कटता है
  2.  बचाव के लिय कोई वक्सिन या ख़ास दवा नही है इसकी, मगर हल्का आराम के लिए paracetamol या शरबत का सेवन जरुरी है उस समय के लिए इससे काफी हद तक डेंगू में लाभ मिलता है
  3. यह मच्छर साफ़ पानी में पनपता है ,हो सके तो कूलर के टैंक को सुखा के रखे गमलो ,प्लास्टिक पड़े सामान में पानी इक्कठा न होने दे ,नारियल के खोलो तथा इस्तेमाल के पानी को दो दिन से ज्यादा साजो के न रखे
  4. आपने आसपास की खिड़की दरवाजोको साफ़ सुथरा व दिन में बंद करके ही रखे
  5. बच्चो को पार्क या सुबह शाम बहार खेलने न जाने दे
  6. बकरी के कच्चे ढूध से भी डेंगू में काफी लाभ है
  7. अगर बुखार 102 डिग्री से अधिक है तो ,बुखार कम करने के लिए hydrotherapy (जल चिकित्सा ) ले इस समय में कोई दवा खाना मतलब अपनी जान जोखिम में डालने से होता है
  8. डेंगू में हर मरीज को  प्लेटलेटस  की आवश्यकता नहीं होती है
  9. paracetamol के अलावा आप, डस्प्रिन या ब्रुकेन का इस्तेमाल अपने आप से  नहीं करना चहिये जब तक डॉ. इसकी सहमती न दे
  10. मच्छर दानी का प्रोयोग सबसे सस्ता और सुविधाजनक है जो हर कोई इस्तेमाल में ला सकता है सोते समय जरुर प्रोयोग में लाये

क्या करे जब आप इस रोग से ग्राशित हो (घरेलु नुस्के )

  1. रोगि को मुलायम बिस्तर में लिटाना चहिये और हो सके तो खूब आराम करे
  2. पपीते के पते का जूस ब्लड में प्लेटलेट(Blood Platelets) को बढाता है
  3. बकरी का दूध खून में प्लेटलेट को बढाता है
  4. अनार का जूस बहुत ही फायदेमंद होता है
  5. डेंगू (Dengue)होने पर पेय का सेवन अधिक करे जिससे पेशाब बार बार हो इससे कुछ वायरस पेशाब के जरिये बहार निकलते है
  6. साबूदाना के व्यजक  ,चाय ,मौसमी फल ,ठंडा दुध, कच्चा नारियल पानी ,का सेवन अधिक मात्रा में करे
  7. इलाइची ,तुलसी की पती ,नीबू के रस तीनो की मिक्सर चाय सेहत के लिय अच्छा है

आयुर्वेदिक नुस्के जो इसमें काफी प्रभावित शिद्ध हुए है (पतंजलि प्रोडक्ट्स )

  • ज्व़ार नाशक वटी(पतंजलि प्रोडक्ट्स )का प्रयोग करे
  • क़िवी का फल भी काफी लाभदायक है
  • प्लेटलेटस कम होने पर अलोएवेर,  ग्लोय व गेहू का ज्वार और 1 -2 पपीते के पते को कूटकर इसका जूस आधा कप सुबह शाम खली पेट पिए
  • ग्लोय ghanwati ले या ग्लोय क्लॉथ को उबाल कर काढ़ा बना के पिए और एलो वेरा जूस का सेवन करे मगर इन सब का प्रोयोग से पहले वैध से पूरी सलाह जरुर ले

आप अपने मोबाइल से गूगल में Dengue Doctors in Delhi  सर्च करे और उसमे आये रिजल्ट में आई वेबसाइट में जाये वह से अच्छे डॉक्टर देख सकते हो, जो कि इंडिया के टॉप केअस्पताल हैं | आप अपने पास के जगह या सिटी का नाम डाल कर सर्च करे |
क्रेडीहेल्थ(Credihealth) एक बहुत ही अच्छी वेबसाइट हैं वहाँ से अच्छे डॉक्टर चुन कर सकते हो| उनकी फीस, अस्पताल में बैठने का समय और उनका कितना अनुभव हैं यह सभी जानकारी देख सकते हैं और फ्री में घर बैठे डॉक्टर्स से बात कर सकते हो और अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हो|

ऐसे कोई भी लक्षण दिखे तुरंत अच्छे डॉक्टर को दिखाए..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *