शहद के गुणकारी फायदे, और उसमे पाए जाने वाले पोषक तत्व

शहद(Honey) फूलो के रस से बना शुद्ध मीठा शहद बहुत ही गुणकारी और फायदेमंद होता है शहद प्राकृतिक रूप से मधुमक्खियो द्वारा बना देसी दवा है शहद कच्चे और पाश्च्यूराइज्ड (pasteurized) रेडिमेड रूपों में बाजार में आसानी से मिल जाता है।  कच्चे शहद मौसमी एलर्जी को दूर करने में मदद करता है। Pasteurized शहद गर्म और अशुद्धियों को दूर करने के लिए लाभकारी होता है।

 शहद का सेवन  दृष्टि बढाने , वजन घटाने में सुधार, नपुंसकता और शीघ्रपतन, मूत्र पथ के विकार, दमा, दस्त, मतली और इलाज में उपयोगी उपयोगी होता है

खनिज और पानी शहद की गुणवत्ता को बढ़ाते है  – हनी में मोनोसैचराईड्स (Monosaccharides),  फ्रक्टोज और ग्लूकोज के उच्च स्तर  में 70 से 80 प्रतिशत चीनी, जो इसे अपने मीठा स्वाद देता है

शहद खाने के फायदे:

शहद बहुत सी बीमारियों को दूर भगाने में लाभकारी होता है जो निम्न प्रकार है

  • कैंसर और हृदय रोग में लाभकारी  -शहद (हनी) में flavonoids, एंटी फ्लेवोनोइड तत्व कैंसर और हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद करता है।
  • अल्सर और अन्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल विकारों को कम करें– हाल के शोध से पता चलता है कि शहद के उपयोग से  अल्सर और बैक्टीरियल को नहीं होने देता है  जो आंत और पेट के लिए फायदे मंद होता है
  • शहद में  एंटी बैक्टीरियल, एंटी-फंगल तत्व होते है जो शरीर को कई बीमारियों से बचाते है
  • शहद के साथ कच्चा लहसुन का सेवन करने से सर्दी – जुकाम और साईनस की बीमारी को सही करने में मदद करता है।
  • खांसी और गले में जलन को कम करें
  • शहद का सेवन मौसम से होने वाली एलर्जी को कम करने में मदद करता है  
  • खांसी में शहद का उपयोग करने से खांसी में रहत मिलती है रोज प्रयोग में लेने पर खांसी एकदम सही हो जाती।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और अमेरिकी बाल रोग अकादमी एक प्राकृतिक उपाय के रूप में खाँसी में शहद की सलाह देते हैं
  • अमेरिका के कृषि विभाग (यूएसडीए) राष्ट्रीय पोषक तत्व डाटाबेस के मुताबिक, शहद की एक चम्मच (लगभग 21 ग्राम) 64 कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट 17.3 ग्राम (चीनी का 17.3 ग्राम कोई फाइबर), वसा 0 ग्राम प्रोटीन और 0 ग्राम होता है
  • शहद (honey) हनी ग्लूकोज, फ्रक्टोज, और जैसे लोहा, कैल्शियम, फॉस्फेट, सोडियम क्लोरीन, पोटेशियम, मैग्नीशियम जैसे खनिजों से बना है।
  • वजन घटाने: हालांकि शहद में चीनी से अधिक कैलोरी होती है जब शहद गर्म पानी के साथ सेवन किया जाता है, यह आपके शरीर में जमा चर्बी को पचाने में मदद करता है। इसी तरह, नींबू का रस या दालचीनी शहद वजन को कम करने में मदद करता है।
  • एनर्जी का स्रोत: यूएसडीए के अनुसार, शहद चम्मच प्रति के बारे में 64 कैलोरी होता है। इसलिए, यह ऊर्जा के लिए  एक स्रोत के रूप में कई लोगों द्वारा प्रयोग किया जाता है। दूसरी ओर, चीनी का एक चम्मच में 15 कैलोरी होती है। इसके अलावा, यह कार्बोहाइड्रेट और  ग्लूकोज की मात्रा भी भरपूर होती है जो भोजन को पचाने और एनर्जी का अच्छा स्त्रोत है  
  • शहद खाने से ब्लड शुगर लेवल कण्ट्रोल में रहता है
  •  शहद सेवन करने से तथा घाव की जगह पर शहद की हलकी मालिश करने से शहद  घाव तेजी से भरने में मदद करता है
  • एंटी ऑक्सीडेंट: शहद में न्यूट्राक्यूटीकल्स (Nutraceuticals) ,तत्व  जो शरीर से मुक्त कण (free- radicals) को हटाने के लिए बहुत प्रभावी होता हैं। जिससे इम्युनिटी में सुधर होता है तथा जिससे , कैंसर या दिल की बीमारी जैसी घातक बीमारियों में लाभकारी हटा है।
  • इम्यून सिस्टम –  शहद के साथ कच्चा लहसुन मिलाकर खाने से  हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत होता है जिससे मौसमी बीमारियों के होने से रोकता है
  • एनीमिया से सुरक्षा – शहद को  गुनगुने पानी के सथ मिला कर पीने से हमारे खून मे हिमोग्लोबिन कि मात्रा को बढ़ाता है तथा शहद खून में ऑक्सीजन की मात्रा को भी बढाता है जिससे शरीर में  एनीमिया या खून की कमी नहीं होती है
  • शहद को दूध के साथ मिला कर पीने से शरीर में शुक्राणुओं(sperm count) की संख्या को बढाता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *